.

Electric Vehicle Subsidy Yojana 2024 : सरकार ने 4 महीने के लिए शुरू की नई योजना, इलेक्ट्रिक वाहन पर 50000 तक सब्सिडी

Electric Vehicle Subsidy Yojana

Electric Vehicle Subsidy Yojana 2024 : इलेक्ट्रिक व्हेकिल के उपयोग और निर्माण को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही है जिसमें इलेक्ट्रिक व्हीकल सब्सिडी योजना एक अहम पहल है। लेकिन आपको बता दें कि सरकार ने अब इस योजना को 1 अप्रैल 2024 से बंद करने का फैसला ले लिया है। यानि अब अगर आप कोई इलेक्ट्रिक व्हेकिल खरीदते हैं तो आपको गाड़ी खरीदना बहुत महंगा पड़ने वाला है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बता दें कि सरकार ईवी की खरीद पर FAME 2 सब्सिडी को 31 मार्च तक ही लागू करेगी। हालाकि इसके स्थान पर सरकार ने एक नई स्कीम की शुरुआत की है जो 1 अप्रैल से 31 जुलाई 2024 तक चार माह के लिए संचालित की जाएगी। भारत सरकार की हैवी इंडस्ट्री मिनिस्ट्री ने इस नई योजना को इलेक्ट्रिक मोबिलिटी प्रोमोशन स्कीम 2024 (EMPS) के नाम से पेश किया है।

इस आर्टिकल में हम आपको Electric Mobility Promotion Yojana 2024 की विस्तृत जानकारी प्रदान करेंगे जिसमें योजना के लाभ और FAME 2 योजना के बंद होने से पड़ने वाले प्रभाव के बारे में बताया जाएगा। उम्मीद है कि ये जानकारी आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी। लेकिन इसके लिए आपको हमारा यह आर्टिकल अंत तक पढ़ना होगा।

Electric Vehicle Subsidy Yojana Latest Update

जैसा कि आप जानते हैं कि जानते है कि पिछले कुछ सालों से इलेक्ट्रिक गाड़ियों को बढ़ावा दिया जा रहा है ताकि पेट्रोल-डीजल से चलने वाले व्हेकिल का उपयोग कम करके ईंधन की खपत को कम किया जा सके। इसके लिए सरकार ने Electric Vehicles Subsidy Yojana की शुरुआत की थी जिसके तहत इलेक्ट्रिक व्हेकिल खरीदने के लिए सरकार सब्सिडी प्रदान करती थी।

लेकिन अब इस योजना का दूसरा चरण 31 मार्च 2024 तक ही संचालित होगा जिसके बाद सरकार इस सब्सिडी योजना को बंद कर देगी और 1 अप्रैल से इलेक्ट्रिक गाड़ी खरीदना महंगा पड़ेगा। इलेक्ट्रिक स्कूटर, कार और बाइक पर इस योजना के तहत काफी छूट मिल सकती थी पर अब इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।

Electric Vehicle Yojana का लाभ क्या है?

EMPS यानि Electric Mobility Promotion Scheme सरकार की एक नई स्कीम है जिसे इलेक्ट्रिक व्हेकिल सब्सिडी योजना (FAME 2) को बंद करने के बाद लाया जाएगा। लेकिन पुरानी योजना के तहत भी सरकार इलेक्ट्रिक व्हीकल को बढ़ावा दे रही थी। इलेक्ट्रिक व्हीकल सब्सिडी योजना ग्राहकों को प्रति दोपहिया वाहन पर 10,000 रुपये तक की छूट (सब्सिडी) प्रदान करती थी।

इस योजना का उद्देश्य 3.33 लाख दोपहिया वाहनों को समर्थन प्रदान करना था। वहीं योजना के तहत छोटे तिपहिया वाहनों (ई-रिक्शा और ई-कार्ट) पर 25,000 रुपये तक की सब्सिडी दी जाती थी। बड़े तिपहिया वाहनों पर यह योजना 50,000 रुपये तक की सब्सिडी देती थी। लेकिन अब ये लाभ मिलने बंद हो जाएंगे।

इसके बाद भारत सरकार ईवी मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए Electric Mobility Promotion Scheme लेकर आई है। इसके लिए इलेक्ट्रिक गाड़ियां बनाने में सरकार की तरफ से रियायत मिलती है और ईवी सेक्टर को सरकार के इंसेंटिव से बढ़ावा मिलने वाला है।

बिजनेस के लिए मिल रहा 50000 रूपये तक का लोन, ऐसे करें अप्लाई

इलेक्ट्रिक व्हीकल सब्सिडी योजना का उद्देश्य क्या है?

EV Subsidy Yojana का उद्देश्य इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर और इलेक्ट्रिक थ्री-व्हीलर के उपयोग को तेजी से बढ़ावा देना है। EV Subsidy Yojana को अब ईएमपीएस योजना के रूप में संचालित किया जाने वाला है जो कि चार महीने के लिए कुल 500 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ संचालित की जाने वाली योजना है। इसका संचालन 1 अप्रैल 2024 से 31 जुलाई 2024 किया जाने वाला है जो ग्रीन मोबिलिटी और ईवी मैन्युफेक्चरिंग इको सिस्टम का विकास करेगी।

EMPS Subsidy Yojana Update

EMPS Yojana 3,72,215 इलेक्ट्रिक व्हीकल को समर्थन देती है। बता दें कि यह योजना EV Subsidy Yojana की तरह ही कार्य करती है किन्तु इसमें दी जाने वाले सब्सिडी की रकम को कम कर दिया गया है। इसके मुताबिक FAME 2 स्कीम की तुलना में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी प्रोमोशन स्कीम 2024 के अन्तर्गत आने वाले इलेक्ट्रिक स्कूटर की लागत 10 फीसदी अधिक होगी। इस नई योजना का लाभ इलेक्ट्रिक स्कूटर और इलेक्ट्रिक बाइक खरीदने वाले को ही मिलेगा। पुरानी योजना के बंद होने से इलेक्ट्रिक कार खरीदने वालों को बड़ा नुकसान हुआ है।

EMPS Scheme के तहत मिलने वाली सब्सिडी राशि

अगर आप EMPS Scheme 2024 के तहत आवेदन करते हैं तो बता दें कि इसके तहत आपको इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर के लिए 10,000 रुपये/kWh के बजाय 5,000 रुपये/kWh की सब्सिडी दी जाएगी।

Leave a Comment