WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Krishi Sakhi Yojana 2024 : सरकार देगी 90 हजार महिलाओं को फ्री ट्रेनिंग और 60 से 80 हजार रूपये कमाने का मौका, यहाँ देखें पूरी जानकारी

Krishi Sakhi Yojana

Krishi Sakhi Yojana 2024 : केंद्र सरकार ने कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए एक योजना प्रारंभ की है जिसे कृषि सखी योजना के नाम से जाना जाता है। कृषि सखी दरअसल वह महिला है जो कृषि से जुड़े विभिन्न कार्यों जैसे मृदा परीक्षण, बीज प्रसंस्करण, जैविक खाद निर्माण, फसल संरक्षण कटाई आदि कार्यों में किसानों की सहायता करेगी जिसके बदले उन्हें हर साल औसतन 60,000 रुपए से 80,000 रुपए की आय प्रदान की जाएगी। बताते चलें कि कृषि सखी बनने के लिए पहले सरकार की Krishi Sakhi Yojana के लिए आवेदन करने के बाद 56 दिन की ट्रेनिंग लेनी होगी।

अगर आप कृषि सखी के रूप में कार्य करके आय अर्जित करना चाहती हैं तो आपको यह पोस्ट पूरा पढ़ना होगा। क्योंकि आपको योजना के बारे में पूरी जानकारी होगी तभी आप इसका पूरा-पूरा लाभ ले पायेंगे। कृषि सखी योजना के तहत कृषि सखी बनने के लिए क्या करना होगा, इसके लिए पात्रता-मानदंड और आवेदन की सही प्रक्रिया क्या है, इसका लाभ और उद्देश्य क्या है, ये सभी जानकारी इस आर्टिकल में दी गई है अतः इस आर्टिकल को शुरू से अंत तक जरूर पढ़िए।

Krishi Sakhi Yojana 2024 क्या है?

भारत सरकार ने महिलाओं की भागीदारी कृषि क्षेत्र में बढ़ाने, उन्हें आत्मनिर्भर और सशक्त बनाने तथा कृषि क्षेत्र में सुधार करने के लिए कृषि सखी योजना का शुभारंभ किया है। इस योजना के तहत योग्य महिलाओं को कृषि से जुड़े विभिन्न कार्यों में विशेष प्रशिक्षण दिया जायेगा। यह ट्रेनिंग 56 दिन की होगी जिसे पूरा करने के बाद महिलाएं कृषि सखी गांवों में कृषि उद्यमी बन कर किसानों की मदद करेंगी।

उनका कार्य किसानों को सलाह देना होगा ताकि किसान कृषि क्षेत्र में अच्छा ज्ञान प्राप्त कर अधिक उत्पादन कर सकें और अधिक कमाई कर पाएं। इसी के साथ कृषि सखी खुद भी कृषि शुरू कर अच्छी आमदनी प्राप्त कर सकती हैं। बताते चलें कि हर वह महिला जो यह ट्रेनिंग पूरी करेगी, उन्हें सरकार की ओर से एक सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा जो महिलाओं की योग्यता का प्रमाण होगा।

Krishi Sakhi Yojana Latest News

आधुनिक कृषि तकनीकों और बेहतर खेती के तरीकों के बारे में महिलाओं को ट्रेनिंग देकर सशक्त बनाने के लिए भारत सरकार ने कृषि सखी योजना का शुभारंभ किया है। बताते चलें कि इस योजना के तहत मंगलवार 15 जून 2024 को वाराणसी में पीएम मोदी द्वारा कृषि सखियों को सर्टिफिकेट का वितरण भी किया गया है। अब तक 70,000 में से 34,000 कृषि सखियों को पैरा एक्सटेंशन एक्टिविस्ट सर्टिफिकेट प्राप्त हो चुका है। कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित करने और किसानों की सहायता के लिए यह योजना लाई गई है जिसके तहत ग्रामीण महिलाएं आवेदन कर पूरा लाभ ले सकती हैं।

Krishi Sakhi Yojana का उद्देश्य क्या है?

कृषि सखी योजना का शुभारंभ करने का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनाना है। इसके अलावा इस योजना के तहत कृषि क्षेत्र का विकास और सुधार करने का प्रयास भी किया जाने वाला है। योजना के अंतर्गत महिलाओं को कृषि से संबंधित कार्यों में प्रशिक्षण दिया जाएगा ताकि वे किसानों को सही सलाह देकर फसल उत्पादन में उनकी सहायता कर सकें। इसके बदले सरकार महिलाओं को 60 से 80 हजार रुपए अतिरिक्त कमाई करने का अवसर देगी।

किसानों को कृषि सखी के रूप में कृषि विशेषज्ञता मिलेगी और साथ ही ग्रामीण रोजगार में महिलाओं को भी रोजगार उपलब्ध होगा। अतः जो महिलाएं इस योजना की भागीदार बन कर कृषि पद्धतियों के बारे में व्यापक प्रशिक्षण प्राप्त करके किसानों को प्रभावित ढंग से सहायता और मार्गदर्शन देना चाहती हैं, उन्हें उन्हें ट्रेनिंग के लिए आवेदन करने की आवश्यकता है।

PM Krishi Sakhi Yojana प्रथम चरण

योजना का पहला चरण देश के 12 राज्यों में शुरू हुआ है ताकि देखा जा सके कि इससे सरकार द्वारा बनाया गया लक्ष्य पूरा हो रहा है या नहीं। बता दें कि इस योजना के तहत 2 करोड़ महिलाओं को कृषि सखी योजना के माध्यम से सशक्त और स्वतंत्र बनाने का लक्ष्य निर्धारित है। जिन राज्यों में योजना का प्रथम चरण चल रहा है, वहां योजना के सफल क्रियान्वयन के बाद सरकार अन्य राज्यों में भी योजना लागू करेगी। देश  के जिन 12 राज्यों में कृषि सखी योजना का पहला चरण शुरू हुआ है, वे राज्य निम्नलिखित हैं –

  • छत्तीसगढ़
  • कर्नाटक
  • महाराष्ट्र
  • तमिलनाडु
  • गुजरात
  • उत्तर प्रदेश
  • आंध्र प्रदेश
  • झारखंड
  • राजस्थान
  • मेघालय
  • मध्य प्रदेश
  • ओडिशा

कृषि सखी योजना में 90,000 महिलाओं को दिया जाएगा प्रशिक्षण:

कृषि सखी योजना के पहले चरण में 90,000 महिलाओं को प्रशिक्षण दिए जाने का लक्ष्य बनाया गया है। यह प्रशिक्षण कृषि विज्ञान केंद्र और कृषि विभागों द्वारा दिया जाएगा। बता दें कि अब तक कृषि सखी कार्यक्रम के तहत 34,000 से अधिक कृषि सखियों को पैरा एक्सटेंशन कर्मी के रूप में प्रमाणित किया गया है और पैरा विस्तार कार्यकर्ताओं के रूप में इनका चुनाव हो चुका है क्योंकि इन्हें खेती के बारे में अच्छी जानकारी होती है।

Krishi Sakhi Yojana 2024 के लाभ क्या हैं?

  • किसानों को कृषि क्षेत्र में सुधार हेतु आवश्यक सहायता प्रदान करने के लिए ग्रामीण इलाके की महिलाओं को प्रशिक्षण देकर कृषि सखी के रूप में तैयार किया जाएगा।
  • कृषि सखी के रूप में महिलाएं किसानों का सहयोग कर सालाना 60,000 से 80,000 रुपए तक की अतिरिक्त आय अर्जित करने में सक्षम होगी।
  • इसके अतिरिक्त कृषि सखी को प्रति माह संसाधन शुल्क प्रदान किया जाएगा।
  • ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं स्वयं भी कृषि कार्य करके आमदनी प्राप्त कर सकेंगे और आत्मनिर्भर बनेगी।
  • इस योजना के तहत प्रथम चरण में 90 हजार महिलाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी। योजना का प्रथम चरण फिलहाल देश के 12 राज्यों में लागू होगा।
  • इससे कृषि क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ेगी।
  • महिलाओं को विभिन्न कृषि कार्यों जैसे कि बीज बैंक की स्थापना और मैनेजमेंट, किसान फील्ड स्कूलों का आयोजन, मृदा स्वास्थ्य, एकीकृत कृषि प्रणाली, पशुधन प्रबंधन और बुनियादी संचार कौशल के बारे में बताया जाएगा।
  • खुशी सखी योजना से ग्रामीण महिलाओं को रोजगार का अवसर मिलेगा जिससे उनके कौशल का विकास होगा।

फ्री ट्रेनिंग और ₹8000 स्टाइपेंड के लिए यहां से करें ऑनलाइन आवेदन

कृषि सखी योजना 2024 के लिए पात्रता

योजना के पहले चरण में जिन 12 राज्यों को चुना गया है, वहां की महिलाएं यदि निम्नलिखित पात्रता को पूर्ण करती है तो उपरोक्त योजना में ट्रेनिंग लेने के लिए आवेदन कर सकती है –

  • केवल भारतीय महिलाओं को कृषि सखी योजना का लाभ दिया जाएगा। यहां पहले उन महिलाओं को लाभ मिलेगा जो योजना के लिए चुने गए 12 राज्यों में किसी एक राज्य  की मूल निवासी हैं।
  • देश की गरीब और निम्न आय वर्ग की महिलाएं इस योजना के लिए आवेदन करने के पात्र है।
  • आवेदीका महिला की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी जरूरी है।
  • ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने वाली महिलाओं को कृषि सखी के रूप में चुना जाएगा।

किसानों को खेतों में सोलर पंप लगवाने के लिए मिलेगा 90% तक सब्सिडी, ऐसे करें आवेदन

Krishi Sakhi Yojana के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता है?

केंद्र सरकार की कृषि सखी योजना का लाभ लेने हेतु महिलाओं को निम्नलिखित दस्तावेजों की आपूर्ति करनी होगी –

  • आधार कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • राशन कार्ड आदि।

कृषि सखी योजना 2024 के लिए आवेदन कैसे करें?

अगर आप कृषि सखी योजना ट्रेनिंग का लाभ लेना चाहती हैं तो तो आपको एक आसान से प्रक्रिया को फॉलो करके इसके लिए रजिस्ट्रेशन करना होगा, यह प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है –

  • कृषि सखी योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी कृषि विभाग कार्यालय में जाना है।
  • वहां जाने के बाद कृषि सखी योजना का आवेदन फार्म प्राप्त करना है।
  • आप चाहें तो पहले योजना संबंधी पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • आवेदन फार्म प्राप्त करने के बाद इसमें पूछी गई सभी जानकारी ध्यान पूर्वक बिना त्रुटि के दर्ज करना है।
  • जब सारी जानकारी दे दी जाए, तो आवेदन फार्म में मांगे गए दस्तावेजों को संलग्न करना है।
  • फिर आवेदन फार्म सहित दस्तावेजों को इस कार्यालय में जमा कर देना है।
  • यह प्रक्रिया पूरी करने के बाद आपको एक रसीद दी जाएगी जिसे आपको सुरक्षित रखना है।
  • संबंधित अधिकारी द्वारा आपके दस्तावेजों की जांच की जाएगी, यदि आप इस योजना का लाभ लेने के योग्य पाई जाती हैं तो योजना के तहत आपको कृषि सखी के रूप में चयनित कर लिया जाएगा।

 

1 thought on “Krishi Sakhi Yojana 2024 : सरकार देगी 90 हजार महिलाओं को फ्री ट्रेनिंग और 60 से 80 हजार रूपये कमाने का मौका, यहाँ देखें पूरी जानकारी”

Leave a Comment

Floating WhatsApp Button Telegram Icon